Sports

11 साल बाद सहवाग-द्रविड़ को छोड़ा पीछे,रोहित-मयंक अग्रवाल ने बनाया सबसे बड़ा रिकॉर्ड 

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम टेस्ट मैच में रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने मिलकर 317 रनों की पार्टनरशिप की और भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए टेस्ट मैचोें में भारत के लिए किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया | रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग का 11 साल पुराना बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया है | रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए टेस्ट में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया | रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने 269 रनों की साझेदारी करते ही वीरेंद्र सहवाग और राहुल द्रविड़ की जोड़ी को पीछे छोड़ दिया |

इससे पहले साल 2008 में खेले गए चेन्नई टेस्ट मैच में पूर्व दिग्गजों की जोड़ी राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग ने मिलकर भारत की तरफ से साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे विकेट के लिए 268 रनों की पार्टनरशिप का रिकॉर्ड बनाया था जो 11 साल बाद 2019 में रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने तोड़ दिया | भारत और साउथ अफ्रीका के बीच टेस्ट मैच में 2009/10 में वीवीएस लक्ष्मण और एमएस धोनी के बीच सातवें विकेट के लिए 259 रनों की साझेदारी हुई थी और 2009/10 में वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर के बीच तीसरे विकेट के लिए 249 रनों की साझेदारी हुई थी | भारत और साउथ अफ्रीका के बीच टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी साझेदारी के रिकॉर्ड की बात करें तो यह हाशिम अमला और जैक कैलिस के नाम हैं, जिन्होंने 2010 में खेले गए नागपुर टेस्ट में भारत के खिलाफ तीसरे विकेट के लिए रिकॉर्ड 340 रनों की पार्टनरशिप की थी | रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए टेस्ट में सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी का रिकॉर्ड भी बनाया | रोहित और मयंक की जोड़ी ने भारत बनाम साउथ अफ्रीका टेस्ट में 1996/97 में गैरी कर्स्टन और एंड्रयू हडसन के बीच हुए 236 रनों की साझेदारी को पीछे छोड़कर सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी का रिकॉर्ड बनाया |   

Spread the love
SHASHIKANT SAHU
Shashikant Sahu shashikant.sahu@newstodaycg.com
http://www.newstodaycg.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *